अमेरिका ने पाकिस्तान को पुचकारा, कहा- मीटिंग का इंतजार

जालंधर ः ट्रंप प्रशासन ने कहा कि अमेरिका पाकिस्तान के साथ अपने संबंध और सांझेदारी को महत्व देता है। ट्रंप प्रशासन की ओर से यह बयान दरअसल इसलिए आया है क्योंकि हाल ही में आतंकियों को शरण देने के मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान की आलोचना की थी। ट्रंप की बयानबाजी के विरोध में पाकिस्तान ने वाशिंगटन के साथ होने वाली आधिकारिक वार्ताएं और यात्राएं निलंबित कर दी थीं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने को बताया, ‘हम पाकिस्तान के साथ अपनी साझोदारी को अब भी महत्व देते हैं. इसके साथ ही एक-दूसरे के लिए अनुकूल समय पर बैठकें आयोजित किए जाने के इंतजार में हैं।’

पाकिस्तान ने रद्द की बैठकें

पाकिस्तान ने इस हफ्ते ट्रंप प्रशासन के साथ होने वाली कम से कम तीन बैठकें स्थगित कर दी थीं। पाकिस्तानी विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ की विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन के साथ होने वाली बैठक को भी रद्द कर दिया गया था।

यात्राओं और वार्ताओं को किया निलंबित

कार्यवाहक सहायक विदेश मंत्री (दक्षिण और मध्य एशिया) एलिस वेल्स और नैशनल सिक्योरिटी काऊंसिल के दक्षिण एशिया नीति शाखा की प्रमुख लीसा कर्टसि को इस हफ्ते पाकिस्तान जाना था। ख्वाजा आसिफ ने कहा था कि आधिकारिक यात्राओं और वार्ताओं को ट्रंप की ओर से की गई पाकिस्तान की आलोचनाओं के विरोध में निलंबित किया जा रहा है।

पाकिस्तान को दी थी चेतावनी

ट्रंप ने पिछले हफ्ते पाकिस्तान में आतंकियों की लगातार मौजूदगी और आतंकी संगठनों को दिए जाने वाले सहयोग को लेकर पाकिस्तान को चेतावनी दी थी।

वार्ता को वापस शुरू करने की कोशिश

माना जा रहा है कि अमेरिका पाकिस्तान में अपने दूतावास के जरिये वार्ता की प्रक्रिया को वापस शुरू करने की कोशिश में है. इसी बीच सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के सीनेटर डैन सुलिवन ने अफगान नीति के लिए ट्रंप की तारीफ की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *