उत्तर कोरिया का बड़ा युद्धाभ्यास, अमेरिका को दी परमाणु हमले की धमकी

उत्तर कोरिया की सेना ने मंगलवार को विनाशक हथियारों के साथ युद्धाभ्यास करते हुए अमेरिका को कड़े शब्दों में चेतावनी दी है। अमेरिकी युद्धक पोतों के कोरियाई सागर में पहुंचने की खबरों के बाद प्योंगयांग ने यह बड़ा अभ्यास किया है। किम जोंग उन के शासन ने मंगलवार को उत्तर कोरिया सेना की स्थापना की 85वीं वर्षगांठ मनाई है। उत्तर कोरिया के रक्षा मंत्री पाक योंग सिक ने कहा, ‘अगर दुश्मन हमारी लगातार चेतावनी के बावजूद भी सैन्य हमले की हिमाकत करेगा तो हमारी सेना परमाणु हमलों से उसे नेस्तनाबूद कर देगी।’

उत्तर कोरिया ने अमेरिका को चेताया है कि वह उसकी साम्राज्यवादी नीतियों से खुद की रक्षा करेगा। बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कुछ दिन पहले कहा था कि चीन उत्तर कोरिया पर लगाम लगाए वरना अमेरिका अकेले प्योंगयांग से निपट लेगा। इस बीच अमेरिका ने अपने कुछ जंगी जहाजों को कोरियाई प्रायद्वीप में भेज दिया है। योनहफ न्यूज एजेंसी ने बताया कि उत्तर कोरिया का यह सबसे बड़ा प्रदर्शन था। इसमें 300-400 विनाशक हथियारों के साथ अभ्यास किया गया। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। उधर विशेषज्ञों ने उत्तर कोरिया के इस अभ्यास को ज्यादा तवज्जो नहीं देने को कहा है। उनका कहना है कि उत्तर कोरिया हर साल इस तरह का बड़ा अभ्यास करता है।

वॉशिंगटन पोस्ट में छपी रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका, दक्षिण कोरिया और जापान ने भी सम्मलित युद्धाभ्यास कर उत्तर कोरिया को परोक्ष चेतावनी दे दी है। उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम का अमेरिका विरोध कर रहा है। ट्रंप ने कुछ दिन पहले कहा था कि उत्तर कोरिया के खिलाफ सभी विकल्प खुले हैं। मंगलवार को ही अमेरिकी नेवी के जंगी जहाज USS वायेन ने दक्षिण कोरियाई पोतों के साथ येलो सी में युद्धाभ्यास किया। दूसरी तरफ अमेरिका के एक अन्य जंगी जहाज ने जापानी सेना के साथ भी युद्धाभ्यास किया। दोनों अभ्यास बुधवार तक चलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *