ओमिक्रॉन vs डेल्टा : क्या Omicron दुनिया में तबाही मचा चुके डेल्टा से आगे निकलेगा?

0
193

Image Source : AP
ओमिक्रॉन vs डेल्टा : क्या Omicron दुनिया में तबाही मचा चुके डेल्टा से आगे निकलेगा?

Highlights

  • ओमिक्रॉन सभी जगह तो नहीं, लेकिन कुछ जगहों पर डेल्टा वेरिएंट को पीछे छोड़ सकता है-एक्सपर्ट
  • अगले दो सप्ताह में ओमिक्रॉन वेरिएंट के खतरे को लेकर और जानाकरियां सामने आएंगी-एक्सपर्ट

वाशिंगटन: दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन  (Omicron) के प्रसार और दुनिया भर में कई देशों से इसके मामले सामने आने के बाद चिंतित वैज्ञानिक एक ऐसी लड़ाई को देख रहे हैं जो महामारी का भविष्य तय करेगी। क्या ओमिक्रॉन (Omicron) दुनिया में तबाही मचा चुके डेल्टा से आगे निकलेगा? 

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल नीत एक अनुसंधान में कोविड के वेरिएंट की निगरानी करने वाले डॉक्टर जैकब लेमिक्स ने कहा, ‘‘ अब भी शुरुआत ही है लेकिन बढ़ते समय के साथ आंकड़े आ रहे हैं जो इस ओर इशारा करते हैं कि ओमिक्रॉन सभी जगह तो नहीं, लेकिन कुछ जगहों पर डेल्टा स्वरूप को पीछे छोड़ सकता है।” उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से खतरे की आशंका है। लेकिन अन्य की राय में अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि ओमिक्रॉन का प्रसार डेल्टा से ज्यादा तेज गति से होगा और अगर ऐसा होता है तो कितनी तेजी से यह आगे निकलेगा।’’ 

रोचेस्टर के मायो क्लीनिक के नैदानिक विषाणु विज्ञान के निदेशक मैथ्यू बिन्किर ने बताया कि खास तौर पर अमेरिका में डेल्टा के मामलों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी जा रही है और ओमिक्रॉन इससे आगे बढ़ पाएगा, इसका पता अगले दो सप्ताह में चलेगा। ओमिक्रॉन के बारे में कई सवालों के जवाब भी तलाशे जाने हैं कि इस स्वरूप से मरीज आंशिक या गंभीर रूप से पीड़ित होता है और यह टीका या पूर्व में संक्रमण से पैदा हुए प्रतिरोधक क्षमता से कितना बच पाता है। 

वहीं ओमिक्रॉन के प्रसार के मुद्दे पर वैज्ञानिक दक्षिण अफ्रीका की तरफ इशारा करते हैं, जहां इस स्वरूप का मामला सबसे पहले सामने आया। दक्षिण अफ्रीका में इस स्वरूप से संक्रमित होने के मामलों में वृद्धि जारी है और विशेषज्ञों को आशंका है कि देश में कहीं नई लहर न आ जाए क्योंकि इससे देश के अस्पताल मरीजों से भर जाएंगे। वैज्ञानिकों का कहना है कि हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि जिस तरह से दक्षिण अफ्रीका में ओमीक्रोन का प्रसार हो रहा है, वैसा ही कुछ अन्य देशों में भी होगा। 

इनपुट-भाषा

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here