माउंट आबू में 24 घंटे में 324 मिलीमीटर बारिश; 2 हजार टूरिस्ट फंसे

जोधपुर के धुंधाड़ा में बारिश के बाद सड़क के दोनों ओर पानी भर गया।
सिरोही/माउंटआबू. राजस्थान के माउंट आबू, सिरोही और बाड़मेर में लगातार 4 दिन से हो रही बारिश की वजह से हालात बेहद खराब हो गए हैं। माउंट आबू में मंगलवार से लेकर बुधवार तक 24 घंटे में 324 मिलीमीटर बारिश हुई है। यहां कुछ जगहों पर लैंडस्लाइड से रास्ते बंद हो गए हैं। इससे यहां करीब 2 हजार टूरिस्ट फंस गए हैं। उधर सिरोही में अणगौर डैम टूट गया है, 21 ओवरफ्लो हो रहे हैं। बाड़मेर में थमी बारिश…
– अॉफिशियल सोर्स के मुताबिक, माउंट आबू में लगातार हो रही बारिश की वजह से कई जगहों पर लैंड स्लाइड हुई हैं। यहां के सात घूम में हुई लैंड स्लाइड से रास्ता बंद हो गया है। रेस्क्यू टीम मौके पर पहुंच गई है और रास्ता साफ करने की कोशिश में लगी है।
– माउंट आबू के टूरिस्ट स्पॉट नक्की झील में गार्डन के पास रविवार को एक शख्स की बॉडी मिली। मृतक की पहचान कुम्हारवाड़ा निवासी शाबिर अहमद (50) के रूप में हुई है। शाबिर शुक्रवार से लापता था।
बाड़मेर में अलर्ट, स्कूलों की हुई छुट्टी
– बाड़मेर में फिलहाल बारिश थम गई है। यहां राहत कार्य तेज कर दिया गया है।
– जिले के गुड़ामालानी में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं। यहां देर रात से रेसक्यू ऑपरेशन भी चलाया जा रहा है। यहां पिछले चार दिनों में 7 लोगों की मौत हो चुकी है।
– बाढ़ के हालात देखते हुए वसुंधरा राजे जिले के अफसरों के साथ लगातार कॉन्टैक्ट कर रही हैं।
– वेदर डिपार्टमेंट ने बाड़मेर में बुधवार से गुरुवार के बीच 24 घंटे में फिर से तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। इसे देखते हुए स्कूलों में छुट्टी डिक्लेयर कर दी गई है।
सांचौर में 50 लोग फंसे
– जालौर जिले के सांचौर में बारिश की वजह से कई गांवों में पानी भर गया है। यहां करीब 50 लोगों के फंसे होने की खबर है। 9 साल की एक बच्ची समेत 4 लोगों को रेसक्यू किया गया है। इस इलाके में 4 दिन से बिजली बंद है।
अणगौर बांध टूटा, 15 बांध ओवरफ्लो
– सिरोही शहर को पानी सप्लाई करने वाले बेहद अहम अणगौर डैम की दीवार टूट गई, इससे डैम का करीब 7 फीट वाटर लेवल कम हो गया है। इस घटना के बाद एडमिनिस्ट्रेशन राहत के काम में जुट गया है। जिले में कुल 31 डैम हैं। इनमें से 15 ओवरफ्लो हो चुके हैं।
– ओवरफ्लो हो रहे डैम में टोकरा, भूला, अणगौर, वासा, वालोरिया, बगेरी, गिरवर, करोड़ीध्वज, चिनार, वाजना, गंगाजली, कमेरी, उडवारिया, भैंसासिंह, मांडवाड़ा बांध शामिल हैं।
– उधर, बांसवाड़ा में भी लगातार हो रही बारिश के बाद हैरोबांध लबालब भर गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *