राष्ट्रपति ट्रंप पहले विदेश दौरे पर सऊदी अरब में

अमरीका के राष्ट्रपति बनने के बाद डोनल्ड ट्रंप अपनी पहली विदेश यात्रा पर सउदी अरब पहुंच गए हैं.

आठ दिन के विदेश दौरे में डोनल्ड ट्रंप इसरायल, फ़लस्तीनी इलाकों, ब्रसेल्स, द वैटिन और सिसली भी जाएंगे.

राष्ट्रपति के तौर पर डोनल्ड ट्रंप का पहला विदेश दौरा ऐसे समय में हो रहा है जब अमरीका में एफ़बीआई प्रमुख पद से जेम्स कोमी को हटाए जाने पर हंगामा मचा हुआ है.

अमरीका में राष्ट्रपति चुनाव और कथित रूसी हस्तक्षेप की जांच की निगरानी के लिए विशेष अधिवक्ता नियुक्त करने के फ़ैसले की ट्रंप ने कड़ी आलोचना की है.

क्या डोनल्ड ट्रंप पर लग सकता है महाभियोग?

ट्रंप ने रूस से कहा, ‘कोमी को हटाने से दबाव घटा’

अपनी पहली विदेश यात्रा के दौरान ट्रंप विश्व के तीन एकेश्वरवादी धर्मों- इस्लाम, यहूदी और ईसाईयों की धार्मिक राजधानियों का दौरा करेंगे.

उनके सउदी अरब पहुंचने से कुछ ही घंटों पहले सउदी अरब के रक्षा विभाग ने बताया कि रियाध के दक्षिण में एक रॉकेट गिराया गया जो यमन के हूथी विद्रोहियों ने दागा था.

रिपोर्टों के मुताबिक यमन की राजधानी सना में सउदी अरब के लड़ाकू विमानों ने जवाबी हमला किया है.

वहीं अमरीकी संगीतकार टोबी कीथ सऊदी गायक राबे सागेर के साथ रियाद में एक कंसर्ट भी करेंगे.

ईरान के बढ़ते प्रभाव पर चिंता

डोनल्ड ट्रंप रियाध में अरब इस्लामिक अमरिकी सम्मेलन में शिरकत करेंगे और इस्लाम के ‘शांतिपूर्ण दृष्टिकोण की उम्मीद’ विषय पर संबोधन करेंगे.

इससे पहले डोनल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बनने के कुछ ही समय बाद सात मुस्लिम बहुल देशों से आने वाले लोगों पर प्रतिबंध लगाकर विवाद में आए थे.

सात मुस्लिम देशों से आने वाले लोगों पर ट्रावेल बैन के ट्रंप के कार्यकारी आदेश को अदालतों ने ख़ारिज कर दिया था.

सम्मेलन में इस्लामिक चरमपंथ से लड़ाई और क्षेत्र में ईरान के बढ़ते प्रभाव पर चर्चा की उम्मीद है.

ट्रंप ईरान के साथ किए परमाणु समझौते के आलोचक रहे हैं, इस समझौते के बाद ईरान पर प्रतिबंध हटाने का रास्ता साफ़ हो गया था.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *