रोजाना पीएं तांबे के बर्तन में रखा पानी, बीमारियां रहेंगी कोसो दूर

सेहत के लिए बेमिसाल है तांबे के बर्तन में रखा पानी

सेहतः पानी हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी है। दिन में कम से कम 10 से 12 गिलास पानी पीना आवश्यक है  क्योंकि यह शरीर में विषैले टाक्सिन को बाहर निकालने का काम करता है, जिससे शरीर कई खतरनाक बीमारियों से बचा रहता है । वहीं पानी अगर तांबे के बर्तन में रख कर पिया जाए तो फायदे और भी दोगुना हो जाते हैं।
अगर आप अभी तक इसके फायदे नहीं जानते तो फायदे जानते ही आप रोजाना इस पानी का सेवन करेंगे।
-खून की कमी
बहुत सी महिलाएं एनीमिया की शिकार हो जाती हैं। दरअसल, शरीर में कॉपर जैसे तत्वों की कमी हो जाती है, जिससे शरीर रक्त की कमी से ग्रस्त हो जाता है और खून की कमी व्यक्ति की जान भी ले सकती है। ऐसे में तांबे के बर्तन में रात भर पानी भर कर  रखें और सुबह पीएं, इससे कॉपर की कमी दूर होगी।
– थायराइड
थाइराइड की समस्या भी आजकल बहुत आम ही सुनने को मिल रही है। शरीर में ‘थायरेक्सीन हार्मोन’ के असंतुलन की वजह से यह परेशानी सामने आती है। इसका मुख्य लक्षण यहीं हैं कि या तो लोग ज्यादा पतले हो जाते हैं या ज्यादा मोटे। इस बीमारी को कंट्रोल में रखने के लिए तांबे के बर्तन में रखा पानी फायदेमंद है।
-पेट में गड़बड़ी
अगर आपको कब्ज की परेशानी रहती हैं तो तांबे के बर्तन में रात भर पानी रखें और सुुबह खाली पेट पीएं। इससे पेट साफ होगा। इसके अलावा पाचन क्रिया दरुस्त, डायरिया व पेट की  अन्य परेशानियां दूर होगी।
-गठिया
गठिया कमजोर हड्डियों की निशानी है। वहीं जोड़ों के दर्द के लिए यूरिक एसिड भी जिम्मेदार है। ऐसे में तांबे के बर्तन में रखा पानी फायदेमंद है जो जोड़ों के दर्द से राहत दिलाता है।
-कैंसर
तांबे के बर्तन में रखे पानी में एंटीआक्सीडेंट गुण होते हैं जो कैंसर जैसी खतरनाक बीमारियों से लड़ने में मददगार है।
-मोटापा पर रखें कंट्रोल
आज हर 5 में से 3 लोग मोटापे का शिकार हैं। अगर आप मोटापे को कंट्रोल में करने के लिए एक्सरसाइज के साथ तांबे के बर्तन में रखें पानी का सेवन करते हैं तो शरीर की फालतू चर्बी जल्दी बाहर निकलेगी।
-स्वस्थ दिल
स्वस्थ दिल के लिए सही ‘ब्लड सर्कुलेशन’ बहुत जरूरी है। यह पानी शरीर का कोलेस्ट्रोल ‘कंट्रोल’ में करता है और आपका दिल सेहतमंद रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *