Omicron: जापान ने विदेशियों की एंट्री रोकी, सिंगापुर सहित कनाडा, ब्रिटेन ने बढ़ाई सख्ती

0
191

Image Source : PTI (REPRESENTATIONAL IMAGE)
Omicron का डर: जापान ने विदेशियों की एंट्री रोकी, सिंगापुर सहित कनाडा, ब्रिटेन और नीदरलैंड ने बढ़ाई सख्ती

Highlights

  • दुनियाभर के देश फिर से कड़ी पाबंदियां लगाने लगे।
  • नीदरलैंड में रविवार से सख्त लॉकडाउन लागू किया गया।

टोक्यो: कोरोना वायरस के नए वेरिएंट Omicron के डर की वजह से दुनियाभर के देश फिर से कड़ी पाबंदियां लगाने लगे हैं। जापान ने तो अपने यहां अगले आदेश तक सभी विदेशी नागरिकों की एंट्री पर रोक लगाने की घोषणा कर दी है। जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा कहा है कि COVID 19 के नए वेरिएंट Omicron को ध्यान में रखते हुए फिलहाल उनके देश में नए विदेशी नागरिकों की एंट्री पर रोक लगाई जा रही है।

जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा ने सोमवार को कहा कि जापान सीमा पर नियंत्रण को बढ़ाने के उपाय पर विचार कर रहे हैं। किशिदा ने संवाददाताओं को बताया कि उनकी योजना दक्षिण अफ्रीका और पास के आठ अन्य देशों से आने वाले यात्रियों के लिए 10 दिन तक अनिवार्य पृथक-वास के अलावा अन्य नए कदमों की घोषणा करने की है। जापान ने अब भी किसी अन्य देश के पर्यटकों के यहां आने पर पाबंदी लगाई हुई है।

जापान से पहले सिंगापुर ने भी ओमिक्रॉन को ध्यान में रखते हुए कड़ी पाबंदियों की घोषणा की है। सिंगापुर ने ओमीक्रोन के खतरे के मद्देनजर एहतियातन कदम उठाते हुए टीकाकरण करा चुके करत, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूईए) के यात्रियों को पृथक-वास से दी जाने वाली छूट (वीटीएल) को फिलहाल स्थगित कर दिया है। सिंगापुर के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार रात बताया कि इन देशों के यात्रियों को पहले छह दिसंबर से पृथक-वास से छूट दी जानी थी, लेकिन अब से ‘‘आगामी नोटिस जारी होने तक’’ वीटीएल को स्थगित कर दिया गया है।

नीदरलैंड में रविवार को कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन के 13 मामलों की पुष्टि होने के बीच वायरस के प्रसार की रोकथाम के मद्देनजर सख्त लॉकडाउन लागू किया गया है। नए लॉकडाउन दिशानिर्देशों के अनुसार, रेस्त्रां, बार, गैर-जरूरी सामान की दुकानें, सिनेमाघर और थियेटर के अलावा अन्य सार्वजनिक स्थान शाम पांच बजे से सुबह पांच बजे तक बंद रहेंगे। निजमेगेन शहर में रेस्त्रां चलाने वाले विल्को क्लिपेंस ने कहा कि ताजा लॉकडाउन से उनकी बाकी की बचत भी खत्म हो जाएगी।

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन स्वरूप का तीसरा मामला सामने आया है। ब्रिटेन की स्वास्थ्य सुरक्षा एजेंसी (यूकेएचएसए) ने रविवार को यह जानकारी दी। जिस व्यक्ति में कोरोना के ओमिक्रॉन स्वरूप की पुष्टि हुई है, वह दक्षिण अफ्रीका से लौटा था, लेकिन इस समय वह ब्रिटेन में मौजूद नहीं है। हालांकि, यूकेएचएसए ने खुलासा किया कि ब्रिटेन से जाने से पहले व्यक्ति ने मध्य लंदन के वेस्टमिंस्टर क्षेत्र में काफी समय बिताया था।

कोविड-19 महामारी की वजह से दुनिया भर में 50 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इजराइल ने विदेशी लोगों के प्रवेश पर पाबंदी लगाने का निर्णय लिया है। वहीं मोरक्को ने कहा है कि वह सोमवार से अगले दो सप्ताह तक आनेवाली सभी उड़ानों को निलंबित करेगा। हांगकांग से यूरोप और उत्तरी अमेरिका तक कई जगहों के वैज्ञानिकों ने इस स्वरूप की मौजूदगी की पहचान की है। नीदरलैंड में रविवार को ओमिक्रॉन के 13 मामले सामने आए। इसके बाद कनाडा और ऑस्ट्रेलिया से दो-दो मामले सामने आए। कई देशों में नए स्वरूप के मामले सामने आने और सीमा बंद करने जैसे कदम के सीमित प्रभाव के मद्देनजर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने सीमाएं बंद नहीं करने का सुझाव दिया है।

दुनिया के कई और देशों में कोविड-19 के नए स्वरूप ‘ओमिक्रॉन’ के मामले सामने आने के बाद कई सरकारों ने अपने-अपने देश की सीमा बंद करने जैसे कदम उठाए हैं जबकि वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि वायरस का यह स्वरूप पहले सामने आए स्वरूपों से ज्यादा खतरनाक है या नहीं। नए स्वरूप की पहचान दक्षिण अफ्रीका के अनुसंधानकर्ताओं ने कुछ दिन पहले की थी और अभी तक इसके ज्यादा संक्रामक होने या इससे मरीज के गंभीर रूप से बीमार पड़ने या इसके टीके के असर को नकारने जैसी जानकारियां उपलब्ध नहीं हो पाई हैं। लेकिन कई देशों ने एहतियाती कदम उठाए हैं।

(इनपुट- एजेंसी)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here