US के जंगी बेड़ों ने दिखाई ताकत, नॉर्थ कोरिया बोला-युद्ध की कगार पर हम

अमेरिकी और उत्तर कोरिया के बीच जंग शुरू होने वाली है. अमेरिका के दो जंगी बेड़े कोरियाई प्रायद्वीप पहुंचकर शक्ति प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसके बाद से युद्ध जैसे हालात बन गए हैं. उत्तर कोरिया की सीमा के नजदीक अमेरिका और दक्षिण कोरिया के लड़ाकू विमानों के उड़ान भरने के बाद से हालात और भी बदतर हो गए हैं. अमेरिका के इस कदम से चिंतित उत्तर कोरिया ने दावा किया कि है वह युद्ध की कगार पर खड़ा है.

उत्तर कोरियाई समाचार एजेंसी KCNA के मुताबिक तानाशाह किम जोंग उन ने चेतावनी दी है कि उत्तर कोरिया पिछले तीन सप्ताह में तीसरे मिसाइल का परीक्षण करने के बाद ज्यादा घातक हथियार विकसित करेगा. फिलहाल जापान सागर में अमेरिका के जंगी बेड़े USS कार्ल विंसन और USS रोनाल्ड रीगन सैन्य अभ्यास कर रहे हैं.

अमेरिका की लाख कोशिश के बावजूद उत्तर कोरिया अपने परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम को बंद नहीं कर रहा है. इससे तंग आकर अमेरिका ने हाल ही में अपने जंगी बेड़े USS रोनाल्ड रीगन और USS कार्ल विंसन को कोरियाई प्रायद्वीप में भेजा है. इससे पहले मंगलवार को अमेरिका ने लंबी दूरी की उन्नत इंटरसेप्टर मिसाइल सिस्टम का परीक्षण किया था, जो सफल रहा. अमेरिका के इंटरसेप्टर मिसाइल सिस्टम ने अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल (ICBM) को मार गिराया है. अमेरिका का यह परीक्षण उत्तर कोरिया की ओर से बढ़े खतरे के मद्दे नजर सामने आया था.

हाल ही में अमेरिका और उत्तर कोरिया ने एक-दूसरे से अपनी-अपनी शर्त पर वार्ता शुरू करने की बात कही थी. ऐसे में उम्मीद की जा रही थी कि कोरियाई प्रायद्वीप में संघर्ष टल गया है, लेकिन अब इसकी उम्मीद धुंधली होती दिख रही है.  उत्तर कोरिया पहले ही कह चुका है कि अगर अमेरिका ने उसको उकसाने की कोशिश की, तो वह उस पर परमाणु हमला करेगा. वहीं, अमेरिका उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को हरहाल में रोकना चाहता है. उत्तर कोरिया अमेरिका समेत समेत विश्व समुदाय की चेतावनी को दरकिनार लगातार परमाणु परीक्षण कर रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप खुद उत्तर कोरिया को सबक सिखाने की धमकी दे चुके हैं, लेकिन उस पर कोई असर नहीं पड़ा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *