Editor’s Pick

आजमगढ़ में टुकड़ों में मिले शव का सनसनीखेज खुलासा, प्रेमी ही निकला कातिल! प्रेमिका की शादी से था नाराज

Image Source : फाइल फोटो
सांकेतिक तस्वीर

यूपी के आजमगढ़ में छह दिन पहले टुकड़ों में मिले शव का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने हत्या के आरोप में प्रिंस यादव नाम के युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपी अपनी प्रेमिका की शादी से नाराज चल रहा था, यही वजह थी कि उसने इस वारदात को अंजाम दिया। पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने रविवार को संवाददाताओं से बातचीत में बताया कि कुएं में मिला शव आराधना नामक महिला का था। उन्होंने बताया कि उसकी हत्या के मामले में आरोपी प्रिंस यादव को आज गिरफ्तार कर लिया गया है। प्रिंस आराधना की शादी दूसरे व्यक्ति से होने नाराज था, इसलिए उसने उसकी हत्या का इरादा किया। अधिकारी ने बताया कि इस साजिश में उसके माता-पिता, बहन, मामा, मामी, ममेरा भाई और उसकी पत्नी भी शामिल थे। पूरी घटना के दौरान प्रिंस के मामा का बेटा सर्वेश साथ ही रहा।

सड़क किनारे टुकड़ों में मिला था शव

आर्य ने बताया कि पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल किया गया बांका, लकड़ी का बोटा, तमंचा, कारतूस व अन्य सामान बरामद कर लिया। घटना में शामिल प्रिंस यादव के मामा के बेटे सर्वेश पर 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। उसके साथ साथ मामले के अन्य अभियुक्तों प्रमिला यादव, सुमन, राजाराम, कलावती, मंजू और शीला यादव की तलाश की जा रही है। गौरतलब है कि गत 16 नवम्बर को गौरी का पूरा गांव के सड़क किनारे युवती का शव कई टुकड़ो में मिला था। इस घटना के खुलासे के लिए पुलिस की पांच टीमों का गठन किया गया था। पुलिस के हाथ पहला सुराग तब लगा जब युवती की शिनाख्त क्षेत्र के इसहाकपुर गांव निवासी केदार प्रजापति ने अपनी पुत्री आराधना के रूप में की।

प्रेमिका की शादी कहीं और होने से नाराज था प्रिंस

धीरे-धीरे मामले की परतें खुलीं तो उसमें प्रिंस यादव की भूमिका जाहिर होने लगी। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि प्रिंस खाड़ी देश शारजाह में लकड़ी काटने का काम करता था। उसका आराधना के साथ प्रेम प्रसंग था लेकिन इसी बीच फरवरी 2022 में आराधना की शादी किसी दूसरे व्यक्ति से हुई तो वह शारजाह से घर चला आया। इसके बाद उसने आराधना से बात करने की कोशिश की लेकिन कामयाब नहीं हुआ तो उसने इस बारे में अपने माता-पिता को बताया। इसके बाद वे भी आराधना की हत्या के लिए उसका साथ देने को तैयार हो गए। इसके बाद प्रिंस ने योजना में कप्तानगंज थाना क्षेत्र के अशरफपुर में रहने वाले अपने मामा और उसके परिजन को भी अपनी साजिश में शामिल किया। 

कटी सिर को तालाब में फेंका

आर्य ने बताया कि योजना के तहत प्रिंस यादव ने अपने मामा के बेटे सर्वेश के साथ नौ नवम्बर को भैरव धाम घूमने के लिए आराधना को उसके घर से लिया और एक रेस्टोरेंट ले गया। उसके बाद वह वहां से अपने मामा के गांव स्थित गन्ने के खेत में आराधना को जबरन खींचकर ले गया, जहां सर्वेश और प्रिंस ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दिया। उन्होंने बताया कि गन्ने के खेत में ही पहले से रखे लकड़ी के बोटे पर बांके से उसके शव के छह टुकड़े किए और पालिथीन में पैक किया। इसके बाद गौरीपुरा गांव के पास शव को कुएं में फेका जबकि उसके सिर को वहां से कुछ दूर स्थित एक तालाब के पास फेंक दिया। 

Latest Crime News




Source link

Related Articles

Back to top button