Tuesday, May 28, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

ड्रॉप इन पिचें क्या होती हैं? जिसपर टी20 वर्ल्ड कप में भारत-पाक होंगे आमने सामने, कैसे होती है तैयार, यहां जानिए सबकुछ

हाइलाइट्स

भारत बनाम पाक 9 जून को होगा हाईवोल्टेज मुकाबला टी20 वर्ल्ड कप में होगा ड्रॉप इन पिचों का इस्तेमाल

नई दिल्ली. भारत और पाकिस्तान की टीमें आईसीसी टी20 विश्व कप 2024 ग्रुप मैच में न्यूयॉर्क में भिड़ेंगी. दोनों टीमें ड्रॉप इन पिचों पर खेलती हुई नजर आएंगी. टी20 विश्व कप का आयोजन विंडीज और अमेरिका की सह मेजबानी में हो रहा है. इसमें कुछ मैच विंडीज में तो कुछ अमेरिका में खेले जाएंगे. अमेरिका के न्यूयॉर्क में खेले जाने वाले मुकाबले के लिए ड्रॉप इन पिचों को फ्लोरिडा से लाकर नासाउ काउंटी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में बिछाया जा रहा है. इस तरह की पिचों का इस्तेमाल ज्यादातर ऑस्ट्रेलिया में किया जाता है. क्योंकि वहां एक ही स्टेडियम में क्रिकेट सहित रग्बी, फुटबॉल और बेसबॉल आदि खेले जाते हैं. टी20 विश्व कप का आगाज 2 से 29 जून तक होगा जिसमें सर्वाधिक 20 टीमें हिस्सा लेंगी.

न्यूयॉर्क के नासाउ काउंटी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम में टी20 वर्ल्ड कप के 8 मैचों का आयोजन होना है. पिछले 6 महीने से ड्रॉप इन पिचों (Drop-in pitches) को फ्लोरिडा में तैयार किया जा रहा था. इस स्टेडियम में दर्शकों के बैठने की क्षमता 34 000 है. इस स्टेडियम में खेले जाने वाले सभी आठों मैच ड्रॉप इन पिचों पर ही खेले जाएंगे. 4 पिचों को नासाउ स्टेडियम में बिछाया जा रहा है जबकि छह पिचों को आसपास अभ्यास के लिए लगाया जाएगा.

टी20 वर्ल्ड कप के लिए कितनी तैयार है टीम इंडिया… अगरकर और रोहित पर फेंका जाएगा सवालों का बाउंसर, आज होंगे सामने

जिस उम्र में लोग शुरू करते हैं करियर… उस उम्र में क्रिकेटर ने लिया संन्यास, सकते में क्रिकेट जगत

ड्रॉप इन पिचें क्या है?
ड्रॉप इन पिचें वो होती हैं जिन्हें ग्राउंड या वेन्यू से दूर कहीं बनाया जाता है. बाद में इन पिचों को क्रेन या ट्रक से लाकर स्टेडियम में बिछा दिया जाता है. फ्लोरिडा में तैयार की जा रही पिचें एडिलेड ओवल टर्फ सोल्यूशंस की देखरेख में बनाई जा रही हैं. जिसकी अगुआई एडिलेड ओवल के मुख्य क्यूरेटर डोमियर हॉग कर रहे हैं. इसका इस्तेमाल मुख्यत: ऑस्ट्रेलिया में होता है. क्रिकेट का सीजन खत्म होने के बाद ड्रॉप इन पिचों को निकालकर पहले रेत और फिर कृत्रिम घास उगाकर दी जाती है जिसके बाद ग्राउंड दोबारा इस्तेमाल के लिए तैयार हो जाता है.

ड्रॉप इन पिचों को कैसे बनाया जाता है?
ड्रॉप इन पिचों को काली मिट्टी के परत पर घास उगाकर बनाई जाती है. इसकी सभी प्रक्रिया स्टील के फ्रेम में होती है. क्रिकेट मैच का जब आयोजन किया जाता है तब 30 टन वजन वाले इन पिचों को ट्रक या ट्रेलर से उठाकर 27 मीटर गहरे सीमेंट के स्लैब के उपर डाल दिया जाता है. स्टील का फ्रेम में बनने की वजह से यह काफी कठोर यानी सख्त होती है. ऑस्ट्रेलिया में इस तरह के रेडिमेड पिचों का इस्तेमाल इसलिए होता था ताकि ग्राउंड्स को दूसरे इवेंट के लिए भी तैयार किया जा सके.

Tags: IND vs PAK, India Vs Pakistan, T20 World Cup, Team india

Source link