Tuesday, May 28, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

बंगाल में ‘इंडिया’ गठबंधन टूटने से भाजपा को नुकसान; इस सीट के गणित ने बढ़ा दी भगवा खेमे की चिंता?

लोकसभा चुनाव 2024 में अगर किसी राज्य में सबसे ज्यादा कड़ा मुकाबला देखने को मिल रहा है तो वह है पश्चिम बंगाल. यहां लोकसभा की कुल 42 सीटें हैं. बीते 2019 के चुनाव में यहां की 18 सीटों पर भाजपा को जीत मिली थी. भाजपा लगातार दावा कर रही है कि वह इस बार अपनी सीटों की संख्या बढ़ाकर 25 तक ले जाएगी. लेकिन, जमीनी स्तर पर गणित इतना स्पष्ट नहीं है. रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि राज्य की कई सीटों पर इस बार त्रिकोणीय मुकाबला है. यहां तृणमूल कांग्रेस अकेले चुनाव लड़ रही है. वह इंडिया गठबंधन से अलग हो गई थी. कांग्रेस और वाम दलों का गठबंधन तीसरे मोर्चे के रूप में कई सीटों पर अच्छी टक्कर दे रहा है. ऐसे में तृणमूल विरोधी वोटों के बंटने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता.

प्रतिष्ठित न्यूज एजेंसी पीटीआई ने कोलकाता से लगी दमदम लोकसभा सीट के बारे में रिपोर्ट छापी है. इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2019 के मुकाबले इस बार तृणमूल उम्मीदवार और मौजूदा सांसद सौगत रॉय के लिए राह आसान दिख रही है. इसके पीछे का मूल कारण यहां से माकपा के बड़े नेता सुजान चक्रबर्ती का मैदान में उतरना है. कई चुनावी जानकार यहां तक दावा कर रहे हैं कि अगर तृणमूल विरोधी ठीक-ठाक वोट चक्रबर्ती के पक्ष में आ जाएं तो वह सौगत रॉय से जीत छीन भी सकते हैं. उनका कहना है कि चक्रबर्ती ने इस सीट पर मुक