Tuesday, May 28, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

बैटर जिसने अपने आखिरी टेस्‍ट में किया धमाका, सबसे तेज शतक जड़कर तोड़ा था रिचर्ड्स का रिकॉर्ड

नई दिल्‍ली. टेस्‍ट क्रिकेट को भले ही धैर्य यानी पेशेंस का खेल कहा जाता हो लेकिन वीरेंद्र सहवाग, शाहिद अफरीदी, क्रिस गेल और ब्रेंडन मैक्‍कुलम जैसे बैटर्स को इसे रोमांचक बनाने श्रेय जाता है. इन्‍होंने बोरिंग माने जाने वाले टेस्‍ट क्रिकेट में आतिशी बैटिंग से रोमांच लौटाया और इस फॉर्मेट से दूर हो रहे दर्शकों को वापस स्‍टेडियम में लाने का काम किया. चौकों-छक्‍कों से सजी इनकी पारियां क्रिकेटप्रेमियों के लिए इंटरटेनमेंट का ‘फुल डोज’ साबित होती थीं.

टेस्‍ट, वनडे और टी20, तीनों ही फॉर्मेट में इन बैटरों ने जबर्दस्‍त स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए और विपक्षी बॉलर्स के लिए खौफ का पर्याय रहे. इन चारों बैटरों में मैक्‍कुलम विकेटकीपर बैटर की हैसियत से खेले. भले ही वीरू, अफरीदी और गेल की तरह लोकप्रियता उन्‍हें नहीं मिली लेकिन मैक्‍कुलम ने अपनी बैटिंग और कप्‍तानी से न्‍यूजीलैंड के क्रिकेट को ऊंचाई पर पहुंचाया. ‘बेज (Bazz)’ के नाम से पॉपुलर मैक्‍कुलम ने टेस्‍ट में 64.60, वनडे में 96.37 और टी20I में 136.21 के स्‍ट्राइक रेट से रन बनाए.

गेंदों के लिहाज से टेस्‍ट क्रिकेट का सबसे तेज शतक मैक्‍कुलम के नाम पर ही है. क्रिकेट करियर के आखिरी दौर में सामान्‍यत: ज्‍यादातर बैटर्स के प्रदर्शन में गिरावट आने लगती है लेकिन मैक्‍कुलम अपने अंतिम इंटरनेशनल मैच में ही टेस्‍ट क्रिकेट का सबसे तेज लगाने वाले बैटर बने थे. फरवरी 2016 में अपने आखिरी टेस्‍ट में उन्‍होंने महज 54 गेंदों पर सैकड़ा ठोका और 56 गेंदों पर शतक के वेस्‍टइंडीज के महान बैटर विव रिचर्ड्स (1985-86) और पाकिस्‍तान के मिस्‍बाह उल हक (2014-15) के रिकॉर्ड को अपने नाम किया था.

‘यूं ही नहीं कोई विराट बन जाता’, टी20 WC में खूब गरजा है ‘किंग कोहली’ का बल्‍ला

महज 54 गेंदों पर पूरा किया था शतक
मैक्‍कुलम ने टेस्‍ट करियर का आखिरी मैच ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ क्राइस्‍टचर्च में खेला था. हालांकि इस टेस्‍ट में न्‍यूजीलैंड को 7 विकेट की हार का सामना करना पड़ा लेकिन मैक्‍कुलम ने सिर ऊंचा रखते हुए शान के साथ इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा. पहले बैटिंग करते हुए न्‍यूजीलैंड ने पहली पारी में 370 रन बनाए जिसमें अकेले मैक्‍कुलम का योगदान 145 रनों का था. यह 145 रन उन्‍होंने महज 79 गेंदों पर 21 चौकों और छह छक्‍कों (स्‍ट्राइक रेट 183.54) की मदद से ठोक दिए थे. इस यादगार पारी के दौरान उन्‍होंने 50 रन 34 गेंदों पर छह चौकों और तीन छक्‍कों की मदद से पूरे किए, इसके बाद अगले 50 रन महज 20 गेंदों पर जड़ते हुए टेस्‍ट में 54 गेंदों पर शतक का नया रिकॉर्ड बनाया था. 16 चौकों और चार छक्‍कों से सजे उनके शतक के 88 रन बाउंड्री के जरिये ही आए थे.

क्रिकेटर जिनका चोट या हेल्‍थ कारणों से खत्‍म हुआ करियर, एक तो था भारत का कप्‍तान

न्‍यूजीलैंड के 370 रनों के जवाब में ऑस्‍ट्रेलिया की पहली पारी 505 रन पर समाप्‍त हुई थी जिसमें ओपनर जो बर्न्‍स ने 170 और स्‍टीव स्मिथ ने 138 रनों का योगदान दिया था. 135 रन से पिछड़ने के बाद न्‍यूजीलैंड ने दूसरी पारी में 335 रन बनाते हुए ऑस्‍ट्रेलिया के सामने जीत के लिए 201 रनों का लक्ष्‍य रखा था जिसे कंगारू टीम ने, जो बर्न्‍स के 65 रनों मदद से तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया था.

Brendon McCullum, New Zealand cricket New Zealand cricke, viv richards, Test cricket, Australia vs New Zealand, Cricket, ब्रेंडन मैक्‍कुलम, न्‍यूजीलैंड क्रिकेट टीम, न्‍यूजीलैंड टीम, विव रिचर्ड्स, टेस्‍ट क्रिकेट, क्रिकेट, ऑस्‍ट्रेलिया Vs न्‍यूजीलैंड

तीनों फॉर्मेट में लगाया रनों का अंबार
मैक्‍कुलम तीनों फॉर्मेट के क्रिकेट में सफल रहे. 101 टेस्‍ट में 38.64 के औसत से 6453 रन (12 शतक), 260 वनडे में 30.41 के औसत से 6083 रन (5 शतक) और 71 टी20I में 35.66 के औसत से 2140 रन (2 शतक) उनके नाम दर्ज हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में 107, वनडे में 200 और टी20I में 91 छक्‍के उन्‍होंने लगाए जो बॉलर्स के खिलाफ उनके बेखौफ रवैये को दर्शाते हैं. टेस्‍ट क्रिकेट में तो छक्‍कों के मामले में इंग्‍लैंड के बेन स्‍टोक्‍स के बाद मैक्‍कुलम दूसरे नंबर के बैटर हैं. टी20I में पहला शतक क्रिस गेल ने बनाया था जबकि इस फॉर्मेट का दूसरा शतक मैक्‍कुलम के बल्‍ले से ही निकला था. 28 फरवरी 2010 को क्राइस्‍टचर्च में मैक्‍कुलम ने 56 गेंदों पर 12 चौकों और आठ छक्‍कों की मदद से नाबाद 116 रन बना डाले थे.

बैटर जिन्‍होंने ODI में खेली 80+ रन की पारी, न कोई 4 और न 6, फिर भी रहे मैन ऑफ द मैच

टेस्‍ट में ट्रिपल सेंचुरी जड़ने वाले न्‍यूजीलैंड के इकलौते बैटर
टेस्‍ट क्रिकेट में तिहरा शतक लगाने वाले मैक्‍कुलम न्‍यूजीलैंड के एकमात्र बैटर हैं. उन्‍होंने यह शतक भारत के खिलाफ फरवरी 2014 में वेलिंगटन में लगाया था. न्‍यूजीलैंड की दूसरी पारी के दौरान मैक्‍कुलम ने 559 गेंदों पर 32 चौकों और चार छक्‍कों की मदद से 302 रन बनाए थे. यह उनकी पारी का ही कमाल था कि पहली पारी के आधार पर 246 रनों से पिछड़ी कीवी टीम टेस्‍ट  ड्रॉ कराने में सफल रही थी. अपनी 302 रनों की इस पारी के दौरान मैक्‍कुलम 775 मिनट तक क्रीज पर रहे थे. यह टेस्‍ट क्रिकेट की 9वीं सबसे लंबी पारी है. ब्रेंडन के अलावा उनके बड़े भाई नाथन मैक्‍कुलम भी ऑफ स्पिनर की हैसियत से न्‍यूजीलैंड के लिए इंटरनेशनल क्रिक