Tuesday, May 28, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

रोड ही नहीं रेलवे में भी तेजी से बढ़ाया नेटवर्क… 10 साल में रोजाना कितने KM बिछी पटरियां? RTI में खुलासा

नई दिल्‍ली. भारतीय रेलवे ने पिछले 10 साल में औसतन 7.41 किलोमीटर प्रतिदिन की दर से पटरियां बिछाई हैं जिनमें नई लाइन के निर्माण के साथ-साथ मौजूदा लाइन का दोहरीकरण, तिहरीकरण और आमान परिवर्तन शामिल है. रेलवे ने सूचना का अधिकार (आरटीआई) अधिनियम के तहत दायर एक आवेदन के जवाब में यह जानकारी दी. मंत्रालय की ओर से उपलब्ध कराए गए आकंड़ों के मुताबिक, उसने 2014-15 से 2023-24 तक 10 वर्षों में कुल 27057.7 किलोमीटर रेल की पटरियां बिछाई, जिसमें नयी लाइन का निर्माण, मौजूदा लाइन का दोहरीकरण और तिहरीकरण और आमान परिवर्तन (छोटी लाइन को बड़ी लाइन में बदलना) शामिल है.

आवेदन दायर करने वाले मध्य प्रदेश निवासी चंद्रशेखर गौड़ ने कहा, “ जब मैंने आंकड़ों की गणना की, तो पता चला कि 10 वर्षों में प्रतिदिन औसतन करीब 7.41 किलोमीटर की दर से पटरियां बिछाने का काम किया गया.” रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने हाल में एक प्रेस वार्ता में कहा था कि भारतीय रेलवे वर्तमान में हर दिन लगभग 15 किलोमीटर की दर से नयी पटरियां बिछा रहा है. वैष्णव ने दो फरवरी 2024 को रेल भवन में एक प्रेस वार्ता में कहा, “पिछले साल रेलवे ने 5,200 किलोमीटर नयी पटरियां बिछाई जो स्विट्जरलैंड के पूरे नेटवर्क के बराबर है. इस साल हम 5,500 किलोमीटर और शामिल कर रहे हैं. 2014 में प्रति दिन चार किलोमीटर की दर थी और अब हम लगभग 15 किलोमीटर प्रति दिन के हिसाब से नयी पटरियां बिछा रहे हैं.”

यह भी पढ़ें:- सलमान खान फायरिंग केस में अब ये क्‍या हुआ? क्‍यों हो रहा सुसाइड करने वाले शख्‍स का फिर से पोस्‍टमार्टम…

2022-23 में 3,901 KM पटरियां बिछाई
आरटीआई के आवेदन के जबाव के मुताबिक, 2022-23 में, रेलवे ने कुल 3,901 किलोमीटर पटरियां बिछाई, जिसमें 473 किलोमीटर नयी लाइन, 3185.53 किलोमीटर का दोहरीकरण किया और 242.2 किलोमीटर का आमान परिवर्तन किय