Saturday, May 18, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

सब जगह सफाया, लेकिन कांग्रेस के इस किले में सेंध नहीं लगा पाई कोई पार्टी, क्या इस बार भी है अभेद्य?

पूरे देश में लोकसभा चुनाव 2024 की सरगर्मियां जोरों पर है. अब तक तीन चरण की वोटिंग हो चुकी है. चौथे दौर की वोटिंग 13 मई को है. इस बीच राजनीतिक रूप से एक सबसे अहम राज्य पश्चिम बंगाल पर सबकी नजर है. यहां लोकसभा की 42 सीटें हैं और पूरे सात चरण में यहां मतदान होगा. यहां की अधिकतर सीटों पर मुख्य मुकाबला भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच है. बीते 2019 के लोकसभा चुनाव में यहां से वामदलों का सफाया हो गया. कांग्रेस भी मात्र दो सीटों पर सिमट गई थी. इसके अलावा तृणमूल 22 और भाजपा को 18 सीटें मिली थीं.

कांग्रेस पार्टी ने जिन दो सीटों पर जीत हासिल की थी उसमें से एक सीट बहरामपुर थी. यह बीते ढाई दशक से अधिक समय से पार्टी का गढ़ है. यहां से लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी 1999 से चुनाव जीतते आ रहे हैं. राज्य की दूसरी सीट मालदा दक्षिण है जहां से कांग्रेस के नेता अबू हसन खान चौधरी भी ल