Tuesday, April 23, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

Ajinkya Rahane May Not Play 100 Test For Indian Cricket Team Due To Bad Form In Ranji Trophy 2023 24

Ajinkya Rahane, Indian Cricket Team: अजिंक्य रहाणे इन दिनों रणजी ट्रॉफी 2023-24 में मुंबई की कमान संभाल रहे हैं. रहाण ने भारत के लिए आखिरी टेस्ट जुलाई 2023 में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेला था. लेकिन इसके बाद से मुंबई के बैटर भारतीय टेस्ट टीम में जगह हासिल नहीं कर सके हैं. एक वक़्त पर रहाणे भारतीय टेस्ट टीम के मुख्य बैटर्स में से एक थे. उन्होंने कई मौकों पर टेस्ट में भारत की कमान भी संभाली है. लेकिन अब रहाणे का टीम इंडिया में वापस आना और 100 टेस्ट खेलना काफी मुश्किल दिख रहा है. 

रहाणे ने इसी साल जनवरी में कहा था कि भारत के लिए 100 टेस्ट खेलना उनका सपना है. लेकिन ऐसा लग नहीं रहा कि उनका ये सपना पूरा हो पाएगा. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि इन दिनों खेली जा रही रणजी ट्रॉफी में रहाणे बिल्कुल आउट ऑफ फॉर्म दिख रहे हैं. रहाणे के बल्ले से बिल्कुल भी रन नहीं निकल रहे हैं. 

रणजी में 6 मुकाबले खेल चुके रहाणे के बल्ले से अब तक सिर्फ एक ही अर्धशतक निकला है. इसके अलावा कई बार वो सिंगल डिजिट के स्कोर पर आउट हुए और तीन बार तो वह खाता भी नहीं खोल सके. रहाणे की खराब फॉर्म को देख यही कहा जा सकता है कि अब उनका टीम इंडिया में लौटना मुमकिन नहीं है. ऐसे में उनका भारत के लिए 100 टेस्ट खेलने का सपना शायद सपना ही रह जाए. 

सरफराज़ और जुरेल ने बढ़ाई मुश्किलें

इंग्लैंड के खिलाफ खेली जा रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ में भारत के लिए सरफराज़ खान और ध्रुव जुरेल जैसे बल्लेबाज़ों ने डेब्यू किया, जो मिडिल ऑर्डर में खेलते हुए दिखाई दिए. दोनों ही बैटर्स ने शानदार खेल दिखाया, जिससे रहाणे का बतौर मिडिल ऑर्डर बैटर टीम इडिया में आने का रास्ता और बंद हो गया. 

अब तक खेल चुके हैं 85 टेस्ट 

गौरतलब है कि अजिंक्य रहाणे ने अब तक भारत के लिए कुल 85 टेस्ट खेल लिए हैं, जिनकी 144 पारियों में बैटिंग करते हुए उन्होंने 38.46 की औसत से 5077 रन बनाए हैं. इस दौरान उनके बल्ले से 12 शतक और 26 अर्धशतक निकले हैं. 

 

ये भी पढ़ें…

Virat Kohli: विराट कोहली को लेकर क्या कह गया फुटबॉल क्लब बायर्न म्यूनिख, चारों तरफ हो रही चर्चा

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles