Editor’s Pick

China Coronavirus: Situation Getting Worse, Record Cases Of Corona Registered For Second Consecutive Day – China Coronavirus : चीन में और बिगड़ रहे हालात, लगातार दूसरे दिन कोरोना के रिकॉर्ड केस दर्ज

कोरोना वायरस
– फोटो : social media

ख़बर सुनें

China Coronavirus : चीन में लगातार दूसरे दिन 31 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के नए मामले दर्ज किए गए हैं। पिछले एक दिन में देशभर के भीतक 32,695 नए स्थानीय मामले दर्ज किए, जो एक नया दैनिक रिकॉर्ड है। इनमें 3,041 मामलों में रोग के लक्षण थे जबकि 29,654 मामलों में कोई लक्षण नहीं पाए गए। 

अप्रैल के मध्य में निर्धारित आंकड़े को पीछे छोड़ते हुए यह एक नया दैनिक रिकॉर्ड बना है। एक दिन पहले, महामारी की शुरुआत के बाद से, चीन ने दैनिक कोविड-19 मामलों की सबसे अधिक संख्या 31,454 दर्ज की थी। जबकि नवीनतम संख्या ने 13 अप्रैल के पुराने रिकॉर्ड (29,317 नए मामले) को तोड़ दिया। 

चीन में संक्रमण को लेकर हालात बेहद गंभीर हो गए हैं। इस बीच, कोरोना मामलों में तेजी के साथ ही चीन सरकार ने परीक्षण बढ़ा दिए हैं। वहीं, बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में शून्य कोविड नीति के तहत प्रतिबंध बढ़ा दिए हैं और बीजिंग में तो स्कूल बंद कर दिए गए हैं। 

मामलों में कमी लाने के लिए दूसरे शहरों से आने वाले लोगों को अब तीन दिन पुरानी कोरोना रिपोर्ट दिखानी जरूरी कर दी गई है। गुआंगझोऊ के बैयून में तो सरकार ने लाकडाउन तक लगा दिया है।

कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य
झोंगझाऊ शहर के अधिकारियों ने बड़े पैमाने पर परीक्षण का आदेश देकर आईफोन सिटी समेत आसपास के शहरों में विरोध को काबू करने की कोशिश की है। आदेश में यह भी कहा गया है कि लोग तब तक अपना क्षेत्र नहीं छोड़ सकते जब तक कि उनके पास कोरोना निगेटिव रिपोर्ट न आ जाए और स्थानीय अधिकारियों की मंजूरी न हो। वह घर से बाहर भी नहीं निकल सकते हैं।

कारोबार पर लॉकडाउन का बुरा असर
लॉकडाउन का चीन के कारोबार पर लगातार असर हो रहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक, चीन की जीडीपी में 20 फीसदी योगदान देने वाला शंघाई शहर इस वक्त भी लॉकडाउन या सख्त पाबंदियों से गुजर रहा है। उसके केंद्रीय बैंक भी अगले साल चीन की ग्रोथ को 4.3 फीसदी से घटाकर 4 फीसदी आंक रहे हैं। ग्रोथ घटने की सबसे बड़ी वजह मुख्य कारोबारी हब शंघाई में दो अप्रैल से लागू हुए दो महीने का लॉकडाउन भी है।

विस्तार

China Coronavirus : चीन में लगातार दूसरे दिन 31 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमण के नए मामले दर्ज किए गए हैं। पिछले एक दिन में देशभर के भीतक 32,695 नए स्थानीय मामले दर्ज किए, जो एक नया दैनिक रिकॉर्ड है। इनमें 3,041 मामलों में रोग के लक्षण थे जबकि 29,654 मामलों में कोई लक्षण नहीं पाए गए। 

अप्रैल के मध्य में निर्धारित आंकड़े को पीछे छोड़ते हुए यह एक नया दैनिक रिकॉर्ड बना है। एक दिन पहले, महामारी की शुरुआत के बाद से, चीन ने दैनिक कोविड-19 मामलों की सबसे अधिक संख्या 31,454 दर्ज की थी। जबकि नवीनतम संख्या ने 13 अप्रैल के पुराने रिकॉर्ड (29,317 नए मामले) को तोड़ दिया। 

चीन में संक्रमण को लेकर हालात बेहद गंभीर हो गए हैं। इस बीच, कोरोना मामलों में तेजी के साथ ही चीन सरकार ने परीक्षण बढ़ा दिए हैं। वहीं, बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में शून्य कोविड नीति के तहत प्रतिबंध बढ़ा दिए हैं और बीजिंग में तो स्कूल बंद कर दिए गए हैं। 

मामलों में कमी लाने के लिए दूसरे शहरों से आने वाले लोगों को अब तीन दिन पुरानी कोरोना रिपोर्ट दिखानी जरूरी कर दी गई है। गुआंगझोऊ के बैयून में तो सरकार ने लाकडाउन तक लगा दिया है।

कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य

झोंगझाऊ शहर के अधिकारियों ने बड़े पैमाने पर परीक्षण का आदेश देकर आईफोन सिटी समेत आसपास के शहरों में विरोध को काबू करने की कोशिश की है। आदेश में यह भी कहा गया है कि लोग तब तक अपना क्षेत्र नहीं छोड़ सकते जब तक कि उनके पास कोरोना निगेटिव रिपोर्ट न आ जाए और स्थानीय अधिकारियों की मंजूरी न हो। वह घर से बाहर भी नहीं निकल सकते हैं।

कारोबार पर लॉकडाउन का बुरा असर

लॉकडाउन का चीन के कारोबार पर लगातार असर हो रहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक, चीन की जीडीपी में 20 फीसदी योगदान देने वाला शंघाई शहर इस वक्त भी लॉकडाउन या सख्त पाबंदियों से गुजर रहा है। उसके केंद्रीय बैंक भी अगले साल चीन की ग्रोथ को 4.3 फीसदी से घटाकर 4 फीसदी आंक रहे हैं। ग्रोथ घटने की सबसे बड़ी वजह मुख्य कारोबारी हब शंघाई में दो अप्रैल से लागू हुए दो महीने का लॉकडाउन भी है।




Source link

Related Articles

Back to top button