Editor’s Pick

Jammu Kashmir: Home Guards Protest Against Demand For Permanent Personnel – जम्मू कश्मीर: स्थायी कर्मी का दर्जा देने की मांग के साथ होमगार्ड फिर सड़कों पर, 6 दिसंबर को करेंगे दिल्ली कूच

जम्मू में प्रदर्शन करते होमगार्ड
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

सैकड़ों होमगार्डों ने अपनी मांगों को लेकर वीरवार को प्रदर्शन किया। कर्मियों ने राजभवन जाने का प्रयास भी किया, लेकिन पुलिस ने इसे विफल कर दिया। होमगार्ड स्थायी कर्मी का दर्जा मांग रहे हैं। साथ ही दूसरे राज्यों की तर्ज पर लाभ देने की मांग कर रहे हैं।

वीरवार को जम्मू होमगार्ड को समर्थन देने आल इंडिया होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कपिला भी पहुंचे। जम्मू होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष कमला शर्मा ने कहा कि चंडीगढ़ यूटी में होमगार्ड कर्मियों को प्रतिमाह 46 हजार रुपये मिलता है।

दिल्ली यूटी में होमगार्ड कर्मियों को 27 हजार रुपये मिलते हैं, लेकिन जम्मू कश्मीर में होमगार्ड को प्रति माह 27 सौ रुपये मिलते हैं। यूटी बनने के बाद भी उनको हक नहीं मिला है। वहीं वीरवार को सैकड़ों होमगार्डों ने मुबारक मंडी, पंजतीर्थी चौक से रैली निकाली और राजभवन जाने का प्रयास किया, लेकिन इन्हें रोक दिया गया।

हालांकि होमगार्ड कर्मियों के एक दल को पुलिस द्वारा राजभवन ले जाया गया। यहां उनकी मांगों संबंधी ज्ञापन उप राज्यपाल प्रशासन को सौंपा गया। कर्मियों ने चेतावनी दी है कि यदि 6 दिसंबर से पहले उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वह लोग दिल्ली कूच करेंगे और वहां प्रदर्शन करेंगे।

होमगार्ड के समर्थन में वीरवार को पंजाब, हिमाचल और दिल्ली होमगार्ड एसोसिएशन के पदाधिकारी भी समर्थन देने के लिए पहुंचे।

विस्तार

सैकड़ों होमगार्डों ने अपनी मांगों को लेकर वीरवार को प्रदर्शन किया। कर्मियों ने राजभवन जाने का प्रयास भी किया, लेकिन पुलिस ने इसे विफल कर दिया। होमगार्ड स्थायी कर्मी का दर्जा मांग रहे हैं। साथ ही दूसरे राज्यों की तर्ज पर लाभ देने की मांग कर रहे हैं।

वीरवार को जम्मू होमगार्ड को समर्थन देने आल इंडिया होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोज कपिला भी पहुंचे। जम्मू होमगार्ड वेलफेयर एसोसिएशन की अध्यक्ष कमला शर्मा ने कहा कि चंडीगढ़ यूटी में होमगार्ड कर्मियों को प्रतिमाह 46 हजार रुपये मिलता है।

दिल्ली यूटी में होमगार्ड कर्मियों को 27 हजार रुपये मिलते हैं, लेकिन जम्मू कश्मीर में होमगार्ड को प्रति माह 27 सौ रुपये मिलते हैं। यूटी बनने के बाद भी उनको हक नहीं मिला है। वहीं वीरवार को सैकड़ों होमगार्डों ने मुबारक मंडी, पंजतीर्थी चौक से रैली निकाली और राजभवन जाने का प्रयास किया, लेकिन इन्हें रोक दिया गया।

हालांकि होमगार्ड कर्मियों के एक दल को पुलिस द्वारा राजभवन ले जाया गया। यहां उनकी मांगों संबंधी ज्ञापन उप राज्यपाल प्रशासन को सौंपा गया। कर्मियों ने चेतावनी दी है कि यदि 6 दिसंबर से पहले उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वह लोग दिल्ली कूच करेंगे और वहां प्रदर्शन करेंगे।

होमगार्ड के समर्थन में वीरवार को पंजाब, हिमाचल और दिल्ली होमगार्ड एसोसिएशन के पदाधिकारी भी समर्थन देने के लिए पहुंचे।




Source link

Related Articles

Back to top button