Editor’s Pick

Kc Venugopal To Visit Jaipur On 29 November Regarding Bharat Jodo Yatra – Rajasthan : 29 नवंबर को जयपुर दौरे पर केसी वेणुगोपाल, क्या गहलोत-पायलट का मनभेद दूर करने भेज रहा है आलाकमान

केसी वेणुगोपाल
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

कांग्रेस संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल 29 नवंबर को जयपुर दौरे पर रहेंगे। वे भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों का जायजा लेने आ रहे हैं। हालांकि, चर्चा तेज है कि वेणुगोपाल अशोक गहलोत और सचिन पायलट में चल रही खींचतान को सुलझाने का प्रयास करेंगे।

केसी वेणुगोपाल की यह जयपुर यात्रा काफी अहम मानी जा रही है। उन्होंने दो दिन में राजस्थान के मसले को सुलझाने की बात कही थी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने था कि सचिन पायलट गद्दार हैं और कांग्रेस आलाकमान उन्हें सीएम नहीं बना सकता। जिसके बाद सियासत गरमा गई है। इसी बीच दिल्ली में केसी वेणुगोपाल ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन और सोनिया गांधी के साथ मुलाकात हुई है। जिसके बाद ही वेणुगोपाल का राजस्थान दौरा तय किया गया है।
 

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि पायलट और गहलोत के बीच चल रही बयानबाजी और गुटबाजी को बैठकर सुलझाना का भी प्रयास किया जाएगा। जिससे भारत जोड़ो यात्रा में कोई भी व्यवधान नहीं पड़े। वेणुगोपाल का प्रयास होगा कि किसी भी प्रकार दोनों नेताओं के बीच कोई समझौता हो जाए, जिसके चलते राजस्थान में कांग्रेस की किरकिरी बंद हो। कांग्रेस की प्राथमिकता इस समय भारत जोड़ो यात्रा ही है। कांग्रेस कैसे भी यात्रा को किसी भी विवाद से दूर रखना चाहती है। सूत्रों के मुताबिक गुजरात चुनाव से पहले राजस्थान को लेकर कोई भी फैसला नहीं किया जाएगा।

विस्तार

कांग्रेस संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल 29 नवंबर को जयपुर दौरे पर रहेंगे। वे भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों का जायजा लेने आ रहे हैं। हालांकि, चर्चा तेज है कि वेणुगोपाल अशोक गहलोत और सचिन पायलट में चल रही खींचतान को सुलझाने का प्रयास करेंगे।

केसी वेणुगोपाल की यह जयपुर यात्रा काफी अहम मानी जा रही है। उन्होंने दो दिन में राजस्थान के मसले को सुलझाने की बात कही थी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने था कि सचिन पायलट गद्दार हैं और कांग्रेस आलाकमान उन्हें सीएम नहीं बना सकता। जिसके बाद सियासत गरमा गई है। इसी बीच दिल्ली में केसी वेणुगोपाल ने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन और सोनिया गांधी के साथ मुलाकात हुई है। जिसके बाद ही वेणुगोपाल का राजस्थान दौरा तय किया गया है।

 

राजनीतिक जानकारों का कहना है कि पायलट और गहलोत के बीच चल रही बयानबाजी और गुटबाजी को बैठकर सुलझाना का भी प्रयास किया जाएगा। जिससे भारत जोड़ो यात्रा में कोई भी व्यवधान नहीं पड़े। वेणुगोपाल का प्रयास होगा कि किसी भी प्रकार दोनों नेताओं के बीच कोई समझौता हो जाए, जिसके चलते राजस्थान में कांग्रेस की किरकिरी बंद हो। कांग्रेस की प्राथमिकता इस समय भारत जोड़ो यात्रा ही है। कांग्रेस कैसे भी यात्रा को किसी भी विवाद से दूर रखना चाहती है। सूत्रों के मुताबिक गुजरात चुनाव से पहले राजस्थान को लेकर कोई भी फैसला नहीं किया जाएगा।




Source link

Related Articles

Back to top button