Saturday, May 18, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

Making of Avatar 2: हाईटेक तकनीक होती तो 10 साल पहले आ जाती जेम्स कैमरन की मास्टरपीस, ऐसे बनीं अवतार

नई दिल्ली. हॉलीवुड की बहुचर्चित फिल्म ‘अवतार’ का मोस्ट अवेटेड सीक्वल ‘अवतार: द वे ऑफ वॉटर’ शुक्रवार को सिनेमाघरों में दर्शकों के बीच आ गया है. फिल्म ने रिलीज से पहले ही कई रिकॉर्ड्स अपने नाम कर लिए हैं. साल 2009 में आई फिल्म के पहले पार्ट ने भी बॉक्स ऑफिस पर कई रिकॉर्ड बनाए थे. फिल्म में VFX और स्पेशल इफेक्ट्स का शानदार इस्तेमाल किया गया था, जो दर्शकों को बेहद पसंद आया था. फिल्म ने इंडियन बॉक्स ऑफिस पर शानदार प्रदर्शन करते हुए 100 करोड़ से अधिक की कमाई की थी.

फिल्म के निर्देशक जेम्स कैमरून (James Cameron) ने ‘अवतार’ की 80 पेजों की स्क्रिप्ट साल 1997 में ‘टाइटैनिक’ फिल्म की शूटिंग के दौरान लिखी थी. ‘टाइटैनिक’ की रिलीज के बाद ही अवतार की शूटिंग की घोषणा कर दी थी. मगर उस समय हाई-टेक टेक्नोलॉजी न होने के चलते फिल्म बन नहीं पाई. अधिकतर फिक्शनल कैरेक्टर के चलते VFX और स्पेशल इफेक्ट्स का इस्तेमाल करना जरूरी था. इस कारण फिल्म होल्ड पर चली गई. हालांकि, उन्होंने फिल्म बनाने का अपना इरादा छोड़ा नहीं और फिल्म के लिए एक अलग तरह की भाषा जेम्स ने तैयार की. साल 2006 में फिल्म की स्क्रिप्ट पर दोबारा काम शुरू हुआ और Fox Studio की मदद से फिल्म 2009 में बड़े पर्दे पर आयी.

ये भी पढ़ें- जेम्‍स कैमरून की ‘अवतार 2’ व‍िज्‍युअली कमाल है, VFX बेम‍िसाल है, पर कहानी एवरेज है…

Avatar में एक्टर्स के एक्सप्रेशन शूट करने को अलग तरह का कैमरा
आपको बता दें कि जेम्स कैमरून ने