Thursday, April 18, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

Pakistan cash crunch Loan on Shehbaz Sharif government

Pakistan Latest News: नकदी संकट से जूझ रहे पाकिस्तान का विदेशी सार्वजनिक ऋण पिछले साल अप्रैल-सितंबर की अवधि में 1.2 अरब डॉलर से बढ़कर 86.35 अरब डॉलर से अधिक हो गया है. इसमें विश्व बैंक और चीन की सबसे बड़ी हिस्सेदारी है. आर्थिक मामलों के मंत्रालय ने चालू वित्त वर्ष के लिए विदेशी आर्थिक मदद पर जारी एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी है.

इसके मुताबिक पाकिस्तान को जुलाई-सितंबर, 2023 में 1.5 अरब डॉलर के ऋण भुगतान के मुकाबले 3.5 अरब डॉलर का कुल विदेशी धन मिला जिससे शुद्ध प्रवाह 1.97 अरब डॉलर का रहा. इसके साथ सितंबर 2023 तक पाकिस्तान सरकार का कुल बाहरी सार्वजनिक ऋण बढ़कर 86.35 अरब डॉलर हो गया है.

मंत्रालय के हवाले से समाचारपत्र ‘द डॉन’ में गुरुवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक कुल बाहरी सार्वजनिक ऋण का लगभग 64 प्रतिशत रियायती शर्तों और लंबी परिपक्वता अवधि वाले बहुपक्षीय और द्विपक्षीय स्रोतों से मिला था. पाकिस्तान पर मार्च, 2023 तक बाह्य सार्वजनिक ऋण 85.18 अरब डॉलर था.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान ने वित्त वर्ष 2023-24 की पहली तिमाही में 64.2 करोड़ डॉलर के नए ऋण समझौतों पर हस्ताक्षर किए थे और सभी नई प्रतिबद्धताओं को बहुपक्षीय विकास भागीदारों द्वारा वित्तपोषित किया गया था. पाकिस्तान को कर्ज देने वाले बहुपक्षीय संस्थानों में विश्व बैंक 30.6 करोड़ डॉलर के साथ सबसे आगे है. इसके अलावा चीन 50.9 करोड़ डॉलर के साथ अग्रणी द्विपक्षीय ऋणदाता बनकर उभरा है. 

पाकिस्तान को नई सरकार से आस

पाकिस्तान को नई सरकार से काफी आस है. हाल ही में आम चुनाव के बाद शहबाज शरीफ गठबंधन सरकार के तहत दोबारा सत्ता में आए हैं. ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि आगामी 5 सालों में वह पाकिस्तान को कर्ज से उबारने के लिए क्या-क्या प्रयास करते हैं. 

यह भी पढ़ें- रूसी सेना में शामिल भारतीय शख्स की यूक्रेन के खिलाफ युद्ध में हुई मौत, धोखे से किया गया था शामिल

 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles