Editor’s Pick

Pakistan Finance Minister Ishaq Dar Says People Behind Leaking Army Chief Gen Bajwa Tax Details Identified – Pakistan: सेना प्रमुख जनरल बाजवा की संपत्ति का खुलासा करने वाले लोगों की हुई पहचान, वित्त मंत्री ने किया दावा

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल बाजवा के टैक्स पेपर लीक होने के बाद वहां की राजनीति में भूचाल आ गया है। दरअसल, पाकिस्तान की एक वेबसाइट ने दावा किया था कि जनरल बाजवा के 6 साल के कार्यकाल में उनके परिजन और रिश्तेदारों ने अरबों की संपत्ति बना ली है। वेबसाइट ने यह भी कहा था कि इतने दिनों में सेना प्रमुख के परिजनों और रिश्तेदारों ने 12.7 अरब की संपत्ति बना ली है। जिसके बाद पाकिस्तान सरकार ने इस मामले में ये खुलासा करने वाली वेबसाइट के खिलाफ जांच के आदेश दिए थे। वहीं, मंगलवार को पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने कहा कि सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का आयकर विवरण लीक करने वाले दो लोगों की पहचान कर ली गई है। डार ने यह भी कहा कि सेना प्रमुख का आयकर विवरण को लीक करना अवैध था।

इशाक डार ने किया ये दावा
एक साक्षात्कार के दौरान उन्होंने कहा कि मैने जांच की अंतरिम रिपोर्ट देखी है। मुझे आज अंतिम रिपोर्ट मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि लीक में शामिल एक व्यक्ति लाहौर से है और दूसरा रावलपिंडी से है। वित्त मंत्री ने कहा कि कर विभाग से संबंधित अधिकारियों को उनके मूल्यांकन के लिए डेटा तक पहुंचने के लिए अधिकृत किया गया था। इस बात की संभावना है कि इसमें शामिल कुछ व्यक्तियों के पास आयकर रिकॉर्ड देखने का अधिकार हो सकता है क्योंकि रावलपिंडी में एक (टैक्स) सर्कल है जहां मूल्यांकन होता है। 

उन्होंने कहा कि किसी के टैक्स विवरण का खुलासा करना अवैध है सिवाय इसके कि जब अदालत ने इसके लिए आदेश जारी किया हो। इस कारण ही इसमें जांच का आदेश दिया गया है। कानून सेना प्रमुख या किसी और के आयकर रिटर्न को अदालत के आदेश के बिना जारी करने की अनुमति नहीं देता है।

कल दिया था इशाक डार ने जांच का आदेश 
गौरतलब है कि खोजी वेबसाइट फैक्ट फोकस द्वारा जनरल बाजवा और उनके परिवार के सदस्यों सहित उनकी बहू के परिवार के कर विवरण ऑनलाइन जारी किए गए थे।इसके बाद वित्तमंत्री डार ने सोमवार को मामले में जांच का आदेश दिया था। फैक्ट फोकस के मुताबिक, जनरल बाजवा के परिवार के सदस्य और रिश्तेदार उनके छह साल के कार्यकाल में अरबपति बन गए, जिससे उनकी संपत्ति 12.7 अरब रुपये हो गई।

पत्नी-बहू और अन्य रिश्तेदारों की संपत्ति में हुई है बढ़ोतरी
जनरल बाजवा की निर्धारित सेवानिवृत्ति से कुछ दिन पहले जारी की गई इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जनरल बाजवा की पत्नी आयशा अमजद की संपत्ति 2016 में शून्य से छह साल में 2.2 बिलियन रुपये (घोषित और ज्ञात) हो गई। इसमें कहा गया है कि राशि में आवासीय भूखंड, वाणिज्यिक भूखंड और सेना द्वारा उनके पति को दिए गए घर शामिल नहीं हैं। रिपोर्ट में यह भी आरोप लगाया गया है कि महनूर साबिर (जनरल बाजवा की बहू) की घोषित संपत्ति का कुल मूल्य अक्टूबर 2018 के अंतिम सप्ताह में शून्य से बढ़कर 2 नवंबर, 2018 को 1,271 मिलियन रुपये हो गया।  

विस्तार

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल बाजवा के टैक्स पेपर लीक होने के बाद वहां की राजनीति में भूचाल आ गया है। दरअसल, पाकिस्तान की एक वेबसाइट ने दावा किया था कि जनरल बाजवा के 6 साल के कार्यकाल में उनके परिजन और रिश्तेदारों ने अरबों की संपत्ति बना ली है। वेबसाइट ने यह भी कहा था कि इतने दिनों में सेना प्रमुख के परिजनों और रिश्तेदारों ने 12.7 अरब की संपत्ति बना ली है। जिसके बाद पाकिस्तान सरकार ने इस मामले में ये खुलासा करने वाली वेबसाइट के खिलाफ जांच के आदेश दिए थे। वहीं, मंगलवार को पाकिस्तान के वित्त मंत्री इशाक डार ने कहा कि सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का आयकर विवरण लीक करने वाले दो लोगों की पहचान कर ली गई है। डार ने यह भी कहा कि सेना प्रमुख का आयकर विवरण को लीक करना अवैध था।

इशाक डार ने किया ये दावा

एक साक्षात्कार के दौरान उन्होंने कहा कि मैने जांच की अंतरिम रिपोर्ट देखी है। मुझे आज अंतिम रिपोर्ट मिलने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि लीक में शामिल एक व्यक्ति लाहौर से है और दूसरा रावलपिंडी से है। वित्त मंत्री ने कहा कि कर विभाग से संबंधित अधिकारियों को उनके मूल्यांकन के लिए डेटा तक पहुंचने के लिए अधिकृत किया गया था। इस बात की संभावना है कि इसमें शामिल कुछ व्यक्तियों के पास आयकर रिकॉर्ड देखने का अधिकार हो सकता है क्योंकि रावलपिंडी में एक (टैक्स) सर्कल है जहां मूल्यांकन होता है। 

उन्होंने कहा कि किसी के टैक्स विवरण का खुलासा करना अवैध है सिवाय इसके कि जब अदालत ने इसके लिए आदेश जारी किया हो। इस कारण ही इसमें जांच का आदेश दिया गया है। कानून सेना प्रमुख या किसी और के आयकर रिटर्न को अदालत के आदेश के बिना जारी करने की अनुमति नहीं देता है।

कल दिया था इशाक डार ने जांच का आदेश 

गौरतलब है कि खोजी वेबसाइट फैक्ट फोकस द्वारा जनरल बाजवा और उनके परिवार के सदस्यों सहित उनकी बहू के परिवार के कर विवरण ऑनलाइन जारी किए गए थे।इसके बाद वित्तमंत्री डार ने सोमवार को मामले में जांच का आदेश दिया था। फैक्ट फोकस के मुताबिक, जनरल बाजवा के परिवार के सदस्य और रिश्तेदार उनके छह साल के कार्यकाल में अरबपति बन गए, जिससे उनकी संपत्ति 12.7 अरब रुपये हो गई।

पत्नी-बहू और अन्य रिश्तेदारों की संपत्ति में हुई है बढ़ोतरी

जनरल बाजवा की निर्धारित सेवानिवृत्ति से कुछ दिन पहले जारी की गई इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जनरल बाजवा की पत्नी आयशा अमजद की संपत्ति 2016 में शून्य से छह साल में 2.2 बिलियन रुपये (घोषित और ज्ञात) हो गई। इसमें कहा गया है कि राशि में आवासीय भूखंड, वाणिज्यिक भूखंड और सेना द्वारा उनके पति को दिए गए घर शामिल नहीं हैं। रिपोर्ट में यह भी आरोप लगाया गया है कि महनूर साबिर (जनरल बाजवा की बहू) की घोषित संपत्ति का कुल मूल्य अक्टूबर 2018 के अंतिम सप्ताह में शून्य से बढ़कर 2 नवंबर, 2018 को 1,271 मिलियन रुपये हो गया।  




Source link

Related Articles

Back to top button