Tuesday, April 23, 2024

Top 5 This Week

Related Posts

Russia Ukraine War India sos message Indian citizen soldiers foreign ministry of india

Russia-Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच करीब 3 सालों से युद्ध जारी है. दोनों देशों के हजारों सैनिक इस युद्ध में अपनी जान गंवा चुके हैं. इसके बावजूद यह युद्ध अबतक समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है. रूस और यूक्रेन को अब सैनिकों की भी कमी खलने लगी है. इस बीच खबर आ रही है कि रूस में रह रहे 20 नागरिकों ने भारतीय अधिकारियों से सम्पर्क साधा है और जल्द से जल्द भारत लौटने की गुहार लगाई है. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत से रूस काम की तलाश में गए हेल्परों से रूसी सेना जबरदस्ती युद्ध लड़वा रही है. वहीं इस मामले पर विदेश मंत्रालय का भी बयान सामने आया है. मंत्रालय द्वारा बताया गया है कि भारत अपने नागरिकों को वापस लाने के लिए रूसी अधिकारियों के संपर्क में है.

मंत्रालय द्वारा जारी किए गए बयान में बताया गया है कि रूस में रह रहे भारतीयों नागरिकों ने एसओएस (SOS) संदेश द्वारा देश वापसी की मदद मांगी है. साप्ताहिक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने कहा कि भारत अपने नागरिकों की रूसी सेना से वापसी के लिए पूरी तरह से जुटा हुआ है. 

इससे पहले पिछले माह 23 फरवरी को भारतीय सरकार ने माना था कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध में कुछ भारतीय अब भी वहां फंसे हुए हैं.  उनकी रिहाई की पूरी कोशिश की जा रही है. 

समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक रूसी सेना की तरफ से यूक्रेन के खिलाफ युद्ध करने के लिए भारतीय नागरिकों को एक मोटी आमदनी की लालच दी गई थी. यही नहीं उनसे बोला गया था कि अगर वह रूसी सेना की तरफ से इस युद्ध में हिस्सा लेते हैं तो उन्हें युद्ध की समाप्ति के बाद रूसी पासपोर्ट भी दे दिया जाएगा. 

यह भी पढ़ें- ताइवान के पास वो 5 हथियार कौन से हैं जिससे वो चीन को दुनिया के नक्शे से मिटा सकता है

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Popular Articles