Editor’s Pick

Those Who Do Not Write Surname In Passport Will Not Be Able To Go To Uae – Uae: पासपोर्ट में सरनेम नहीं लिखने वाले नहीं जा पाएंगे यूएई, नए निर्देशों के तहत 7 रियासतों के लिए सफर मुश्किल

सांकेतिक तस्वीर।
– फोटो : pixabay

ख़बर सुनें

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) जाने के लिए आपके पासपोर्ट में नाम और उपनाम साथ होना चाहिए। इनमें से एक ही अगर है तो आपको वापस भेज दिया जाएगा। एअर इंडिया ने बताया कि 21 नवंबर के बाद से ऐसे यात्रियों को वीजा जारी नहीं किया जा रहा है।

यह निर्णय यूएई की ओर से हाल ही में जारी दिशानिर्देशों के तहत किया गया है। नए दिशानिर्देशों के तहत संयुक्त अरब अमीरात में शामिल दुबई समेत सात रियासतों के लिए आपका सफर मुश्किल हो जाएगा। दुबई के अलावा यूएई में आबू धाबी, शारजाह, उम्म अल कुवैन, अजमान, फुजइराह तथा रस अल खैमा शामिल हैं।

सरल और तेज हो अमेरिकी वीजा प्रक्रिया : विदेश मंत्रालय
अमेरिका के लिए पर्यटक व व्यापार वीजा की मांग करने वाले भारतीयों को करीब तीन साल तक की प्रतीक्षा करनी पड़ती है। इन सबके बीच विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह मामला किसी देश के साथ नहीं उठाया गया। उम्मीद जताई कि अमेरिकी वीजा प्रक्रिया सरल और कम समय लेने वाली होगी। विजिटर वीजा- बी1 (बिजनेस) और बी2 (टूरिस्ट) पर अमेरिका जाने की योजना बनाने वालों को झटका लगा है। भारत में आवेदकों के लिए इंतजार की समय सीमा करीब 1,000 दिनों की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, जब लोग कहीं जाना चाहें तो वीजा प्रणाली सरल होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिकी दूतावास की तरफ से व्यवस्था को दुरुस्त बनाने का भरोसा दिलाया गया है।

विस्तार

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) जाने के लिए आपके पासपोर्ट में नाम और उपनाम साथ होना चाहिए। इनमें से एक ही अगर है तो आपको वापस भेज दिया जाएगा। एअर इंडिया ने बताया कि 21 नवंबर के बाद से ऐसे यात्रियों को वीजा जारी नहीं किया जा रहा है।

यह निर्णय यूएई की ओर से हाल ही में जारी दिशानिर्देशों के तहत किया गया है। नए दिशानिर्देशों के तहत संयुक्त अरब अमीरात में शामिल दुबई समेत सात रियासतों के लिए आपका सफर मुश्किल हो जाएगा। दुबई के अलावा यूएई में आबू धाबी, शारजाह, उम्म अल कुवैन, अजमान, फुजइराह तथा रस अल खैमा शामिल हैं।

सरल और तेज हो अमेरिकी वीजा प्रक्रिया : विदेश मंत्रालय

अमेरिका के लिए पर्यटक व व्यापार वीजा की मांग करने वाले भारतीयों को करीब तीन साल तक की प्रतीक्षा करनी पड़ती है। इन सबके बीच विदेश मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को कहा कि यह मामला किसी देश के साथ नहीं उठाया गया। उम्मीद जताई कि अमेरिकी वीजा प्रक्रिया सरल और कम समय लेने वाली होगी। विजिटर वीजा- बी1 (बिजनेस) और बी2 (टूरिस्ट) पर अमेरिका जाने की योजना बनाने वालों को झटका लगा है। भारत में आवेदकों के लिए इंतजार की समय सीमा करीब 1,000 दिनों की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, जब लोग कहीं जाना चाहें तो वीजा प्रणाली सरल होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिकी दूतावास की तरफ से व्यवस्था को दुरुस्त बनाने का भरोसा दिलाया गया है।




Source link

Related Articles

Back to top button