Editor’s Pick

Us Couple Welcomes Twins Born From Embryos Frozen 30 Years Ago, Breaks Record – अजब-गजब: 30 साल से जमे भ्रूण से पैदा हुए जुड़वा बच्चे, अमेरिकी दंपती बना ‘सबसे पुराने बच्चों’ का पिता

Embryo
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

ओरेगॉन का एक जोड़ा 30 साल पहले अप्रैल 1992 में जमे हुए भ्रूण से जुड़वां बच्चों के माता-पिता बना। इससे पहले ये रिकॉर्ड कायम करने वाला मौली गिब्सन था जो 2020 में ऐसे भ्रूण से पैदा हुआ था जो लगभग 27 वर्षों से जमा हुआ था। ओरेगन जुड़वां को दुनिया के सबसे पुराने बच्चे कहा जा रहा है और इनका जन्म 31 अक्टूबर को रशेल रिडवे और फिलिप रिडवे दंपती के यहां हुआ था। नेशनल एम्ब्रियो डोनेशन सेंटर का कहना है कि लिडिया और टिमोथी रिडवे नाम के जुड़वां बच्चों का जन्म सबसे लंबे समय तक जमे हुए भ्रूण से हुआ है। लड़की लिडिया का वजन 5 पाउंड 11 औंस, (2.5 किग्रा) और लड़के टिमोथी का जन्म 6 पाउंड 7 औंस (2.92 किग्रा) था।

दोनों बच्चे भ्रूण दान का परिणाम हैं। ये आमतौर पर उन माता-पिता से मिलते हैं जिनके पास इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) के माध्यम से सफलतापूर्वक बच्चे पैदा करने के बाद अतिरिक्त भ्रूण होते हैं। तीस साल पहले इन विट्रो फर्टिलाइजेशन का इस्तेमाल करने वाले एक गुमनाम दाता दंपति ने भ्रूण दान किया था, जो शून्य से 200 डिग्री नीचे क्रायोप्रिजर्व्ड थे। 22 अप्रैल, 1992 को भ्रूण जमे हुए थे और 2007 तक वेस्ट कोस्ट फर्टिलिटी लैब में कोल्ड स्टोरेज में रखे गए थे। दंपति ने इन्हें राष्ट्रीय भ्रूण दान केंद्र (NEDC) को दान कर दिया था। पंद्रह साल बाद जमे हुए भ्रूणों से लिडिया और टिमोथी का जन्म हुआ।

रिडवे के पहले से ही चार बच्चे हैं, जिनकी उम्र आठ, छह, तीन और दो साल है। रिडवे ने दान किए गए भ्रूणों का उपयोग करके और बच्चे पैदा करने का फैसला किया। जब वे दाताओं की तलाश कर रहे थे, तो इस जोड़े ने विशेष विचार नाम की श्रेणी में देखा, जिसका मतलब था कि ऐसा भ्रूण जिसके लिए प्राप्तकर्ता ढूंढना मुश्किल हो गया था। 

रिडवे ने सीएनएन को बताया, “हम उन भ्रूणों को हासिल करने की नहीं सोच रहे थे जो दुनिया में सबसे लंबे समय तक जमे हुए हैं। हम केवल यह चाहते थे कि ऐसा भ्रूण मिले जो लिए जाने का इंतजार कर रहा हो। इसमें कुछ खास है। एक मायने में वे हमारे सबसे बड़े बच्चे हैं, भले ही वे हमारे सबसे छोटे बच्चे हैं। 

विस्तार

ओरेगॉन का एक जोड़ा 30 साल पहले अप्रैल 1992 में जमे हुए भ्रूण से जुड़वां बच्चों के माता-पिता बना। इससे पहले ये रिकॉर्ड कायम करने वाला मौली गिब्सन था जो 2020 में ऐसे भ्रूण से पैदा हुआ था जो लगभग 27 वर्षों से जमा हुआ था। ओरेगन जुड़वां को दुनिया के सबसे पुराने बच्चे कहा जा रहा है और इनका जन्म 31 अक्टूबर को रशेल रिडवे और फिलिप रिडवे दंपती के यहां हुआ था। नेशनल एम्ब्रियो डोनेशन सेंटर का कहना है कि लिडिया और टिमोथी रिडवे नाम के जुड़वां बच्चों का जन्म सबसे लंबे समय तक जमे हुए भ्रूण से हुआ है। लड़की लिडिया का वजन 5 पाउंड 11 औंस, (2.5 किग्रा) और लड़के टिमोथी का जन्म 6 पाउंड 7 औंस (2.92 किग्रा) था।

दोनों बच्चे भ्रूण दान का परिणाम हैं। ये आमतौर पर उन माता-पिता से मिलते हैं जिनके पास इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) के माध्यम से सफलतापूर्वक बच्चे पैदा करने के बाद अतिरिक्त भ्रूण होते हैं। तीस साल पहले इन विट्रो फर्टिलाइजेशन का इस्तेमाल करने वाले एक गुमनाम दाता दंपति ने भ्रूण दान किया था, जो शून्य से 200 डिग्री नीचे क्रायोप्रिजर्व्ड थे। 22 अप्रैल, 1992 को भ्रूण जमे हुए थे और 2007 तक वेस्ट कोस्ट फर्टिलिटी लैब में कोल्ड स्टोरेज में रखे गए थे। दंपति ने इन्हें राष्ट्रीय भ्रूण दान केंद्र (NEDC) को दान कर दिया था। पंद्रह साल बाद जमे हुए भ्रूणों से लिडिया और टिमोथी का जन्म हुआ।

रिडवे के पहले से ही चार बच्चे हैं, जिनकी उम्र आठ, छह, तीन और दो साल है। रिडवे ने दान किए गए भ्रूणों का उपयोग करके और बच्चे पैदा करने का फैसला किया। जब वे दाताओं की तलाश कर रहे थे, तो इस जोड़े ने विशेष विचार नाम की श्रेणी में देखा, जिसका मतलब था कि ऐसा भ्रूण जिसके लिए प्राप्तकर्ता ढूंढना मुश्किल हो गया था। 

रिडवे ने सीएनएन को बताया, “हम उन भ्रूणों को हासिल करने की नहीं सोच रहे थे जो दुनिया में सबसे लंबे समय तक जमे हुए हैं। हम केवल यह चाहते थे कि ऐसा भ्रूण मिले जो लिए जाने का इंतजार कर रहा हो। इसमें कुछ खास है। एक मायने में वे हमारे सबसे बड़े बच्चे हैं, भले ही वे हमारे सबसे छोटे बच्चे हैं। 




Source link

Related Articles

Back to top button