Editor’s Pick

Web Series Khakee The Bihar Chapter Exclusive Interview With Neeraj Pandey And Avinash Tiwary – Khakee Exclusive Video: अविनाश तिवारी के ऐसे काम आए अमिताभ, सीरीज की मेकिंग के भव ने सुनाए दिलचस्प किस्से

नेटफ्लिक्स की वेब सीरीज ‘खाकी: द बिहार चैप्टर’ की इन दिनों हर तरफ चर्चा है। हो भी क्यों न आखिर इसके रचयिता नीरज पांडे जो ठहरे। नीरज पांडे ने रॉ के एजेंटों की एक दिलचस्प कहानी अपनी पिछली वेब सीरीज ‘स्पेशल ऑप्स’ में दिखाई धी जिसके वह निर्देशकों में भी शामिल थे। अब बतौर रचयिता नीरज पांडे ने निर्देशन की कमान उन भव धूलिया को थमाई है जिन्होंने इसके पहले ‘रंगबाज’ का निर्देशन किया था। वेब सीरीज ‘खाकी: द बिहार चैप्टर’ की झारखंड में शूटिंग के लिए कोई दो महीने तक स्थानीय कलाकारों की वर्कशॉप चली, दर्जनों लोगों को सीरीज के खास किरदारों को तैयार किया गया और ऐसी वास्तविक लोकेशन पर सीरीज की शूटिंग की गई जिन्हें हिंदी सिनेमा में भी अब तक कम ही देखा गया है। वेब सीरीज ‘खाकी: द बिहार चैप्टर’ के रचयिता नीरज पांडे, निर्देशक भव धूलिया और लीड कलाकारों करण टैकर व अविनाश तिवारी का ये दिलचस्प इंटरव्यू आप यहां देख सकते हैं…

हॉरर के लिए बनाया नया बैनर

वेब सीरीज ‘खाकी: द बिहार चैप्टर’ के रचयिता निर्माता-निर्देशक नीरज पांडे का इरादा देश के हर राज्य की पुलिस की दुर्दांत अपराधियों से मुकाबले की कहानियों पर सीरीज बनाने का है। इसकी शुरुआत वह बिहार में कार्यरत रहे पुलिस अधिकारी अमित लोढ़ा के अनुभवों से प्रेरित एक कहानी से कर रहे हैं हालांकि उनका ये भी कहना है कि ये सीरीज अमित लोढा की बायोपिक नहीं हैं। ‘अमर उजाला’ के साथ एक एक्सक्लूसिव वीडियो इंटरव्यू में नीरज पांडे के साथ सीरीज के मुख्य कलाकारों करण टैकर और अविनाश तिवारी व सीरीज के निर्देशक भव धूलिया ने भी हिस्सा लिया। नीरज पांडे देश में हॉरर फिल्मों का एक नया अध्याय भी शुरू करना चाहते हैं और इसके लिए उन्होंने अपनी एक नई कंपनी भी खोली है।

बदलती रहेगी सीरीज की टैगलाइन

शुक्रवार को नेटफ्लिक्स पर रिलीज होने जा रही वेब सीरीज ‘खाकी: द बिहार चैप्टर’ के बारे में बात करते हुए नीरज पांडे कहते हैं, ‘ये सीरीज बिहार की पुलिस की कार्यप्रणाली पर आधारित है लेकिन ये आईपीएस अफसर अमित लोढा की बायोपिक बिल्कुल नहीं है।’ ये पूछे जाने पर कि सीरीज बिहार की चर्चित कार्यप्रणाली के कितना करीब है, वह कहते हैं, ‘ये तो सीरीज देखने के बाद ही पता चलेगा।’ हालांकि वह कहते हैं कि उनके फोकस में सिर्फ बिहार की पुलिस नहीं है और वह देश के हर राज्य के बहादुर पुलिस अफसरों की कहानियां इस सीरीज के जरिये दिखना चाहते हैं और इसीलिए इसका नाम ‘खाकी’ रखा गया है। फिल्म की टैगलाइन हर सीजन में राज्य के अनुसार बदलती रहेगी।

इसे भी पढ़ें- Aamir Khan: एक्स वाइफ किरण राव और बेटे आजाद के साथ घूमने निकले आमिर, यूजर्स बोले- ‘भारत में डर लग रहा होगा?’

रितेश शाह ने सुझाया भव धूलिया का नाम

नीरज पांडे की ख्याति हिंदी सिनेमा में रोमांच, रहस्य के साथ साथ रुआब वाले किरदारों की कहानियां बनाने की रही है। फिल्म ‘अ वेडनेसडे’ के निर्देशन से अपना निर्देशकीय करियर शुरू करने वाले नीरज पांडे ने वेब सीरीज ‘खाकी: द बिहार चैप्टर’ का जिम्मा भव धूलिया को सौंपा है जो इसके पहले जी5 के लिए ‘रंगबाज’ सीरीज का निर्देशन कर चुके हैं। वह कहते हैं, ‘फिल्म जगत के नामी लेखक रितेश शाह से मैंने किसी अच्छे निर्देशक का नाम सुझाने को कहा था तो उन्होंने भव का नाम लिया। बस मैंने उन्हें फोन मिलाया। हमारी मुलाकात हुई और दो तीन दिन में ही भव ने इस सीरीज पर काम शुरू कर दिया।’

हॉरर फिल्मों के लिए बनाया नया बैनर

‘अमर उजाला’ के साथ इस खास वीडियो इंटरव्यू में नीरज पांडे से जब ये सवाल किया गया कि उनके सिनेमा के कसाव और चुस्त दुरुस्त प्रस्तुतीकरण को देखकर कई बार ये उम्मीद जागती है कि उनके प्रोडक्शन हाउस को हॉरर फिल्में भी बनानी चाहिए। इस पर नीरज पांडे ने मुस्कुराते हुए जवाब दिया, ‘चूंकि आप इस बारे में जानते हैं इसलिए ये सवाल पूछ रहे हैं। हमारा मानना रहा है कि भारत में डरावनी फिल्मों पर ज्यादा अच्छे तरीके से काम नहीं हुआ है। हमने हाल ही में इसी सिलसिले में अपना एक नया बैनर ‘फ्राईडे फीयरवर्क्स’ लॉन्च किया है।’




Source link

Related Articles

Back to top button